News Uttarakhand

 भिलंगना नदी पर बन रहे हाईड्रोपावरो के बिरोध मैं जनप्रतिनिधि हुऐ एकजुट एक सुर मैं किया बिरोध प्रकट

जनपद टिहरी गढ़वाल के भिलंगना नदी पर बन रहे हाइड्रोप्रोजक्टो का बिरोध मैं जहां स्थानीय लोग कर रहे हैं ओर इसके लिऐ एक संघर्ष समिति का गठन भी किया जा चुका है (भिलंगना जल जंगल जमीन बचाओ संघर्ष समीति) वहीं अब जन प्रतिनिधि भी इन पावरप्रोजेक्टो के खिलाफ लामबंद होने शूरु हो गऐ है।

आज स्थानीय जिला पंचायत सदस्या देवलंग भिलंग श्रीमती सीता रावत जी ने इस विषय को पुरजोर तरीके से जिला पंचायत सदन मैं रखा उन्होंने सदन को अवगत कराया कि पुर्व मैं बने दो हाईड्रोप्रोजक्टो से कितना आम जनजीवन प्रभावित हुआ है जिसमें पर्यावरण नुकसान के साथ अभी भी इन कम्पनियों के साथ हुए स्थानीय करार पुरे नहीं हुए है पानी के कितने स्रोत सुख चुके है, लोगो के घरो मैं दरारे पड़ी है, भिलंगना मैं पानी न होने कि स्थिति मैं स्थानीय बिखोत पर्व आज अपना स्थतित्व खो चुका हे, हमारे अपनो कि अधजली लाशे यत्रतत्र जानवर खाए दैखे जा सकते है इन कम्पनियों के क्रमचारी आए दिन हमारे स्थानीय बैरोजगार लोगो का माखोल बनाते रहते हैं, इन कम्पनियों कि मनमानी के चलते आज हमारे बिखोत मैले, राणीगढ मैले, मां नंदा भगवती का स्नान, इत्यादि पर्वों से स्थानीय लोगो की आस्थाऐ जुड़ी थी जो आज खत्म से हो गये हैं जिससे स्थानीय आमजन आक्रोश मैं है। प्रवास की समितियों जिसमें पर्वतीय लोकविकास समिति, भिलंगना क्षैत्र विकास समिति इत्यादि भी इन पावरप्रोजेक्टो के बिरोध के समर्थन में उतर चुकी हैं अब अगर ओर पावरप्रोजेक्ट बनते हैं तो स्थानीय लोग आंदोलन करने को बाधित होंगे।

इस बिषय पर त्वरित संझान लैते हुऐ जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती सोना सजवाण जी ने इस बिरोध पर पुर्ण सहमति जताते हुए कहा की इस प्रकार की जनबिरोधी परियोजनाओं का बिरोध नितांत आवस्यक है एसे निर्माण कार्यों से पुर्व स्थानीय जनता एवं जनप्रतिनिधियों को विश्वास मैं लैना जरुरी हैं एसे निर्माणो से चमोली जैसी घटना की पुनरावृत्ति न हो यह भी ध्यान रखा जाना चाहिए क्षैत्र मैं विकास कार्य हो जो कि हमारी हम सबकी प्रमुखता है परंतु उसके लिऐ आपसी तालमेल होना बहुत जरूरी है।

 किसी का आशियाना उजाड़कर महल बनाने से अच्छा हमारी प्राथमिकता सबसे पहले उसे नया घर दैने की होनी चाहिए ।

सभी जिला पंचायत सदस्यों ने इन पावरप्रोजेक्टो के बिरोध का पुर्ण समर्थन करते हुए जिला पंचायत अध्यक्षा जी के नेतृत्व मैं जिलाधिकारी जी को पत्र भैजा जिसमें सपस्टता उल्लेख किया गया कि यदि किसी भी प्रकार का एसा कार्य होता है तो स्थानीय लोगो के साथ सभी जनप्रतिनिधि एकजुट होकर आंदोलन करने को बाध्य होगें।

भिलंगना जल जंगल जमीन बचाओ संघर्ष समिति कै अध्यक्ष भजन रावत एवं सभी संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने सभी जिला पंचायत सदस्यों, प्रवास मैं क्षैत्रहित के लिए सदैव सचैत पर्वंतीय लोकविकास समिति, भिलंगना क्षेत्र विकास समिति ओर भी सभी समितियों के साथ साथ जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती सोना सजवाण जी का आभार प्रकट किया है ।।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please Disable your Adblocker
%d bloggers like this: